Startup India Seed Fund Scheme | स्टार्टअप इंडिया सीड फण्ड स्कीम।

स्टार्टअप करना हो गया है आसान क्योंकि भारत सरकार उन लोगों को स्टार्टअप करने के लिए पैसे दे देती है जिनके पास कोई टैलेंट या आइडिया है। और वह अपना खुद का स्टार्टअप करना चाहते हैं। Startup India Seed Fund Scheme के तहत यह पैसे सीधे आपके अकाउंट में स्टार्टअप करने के लिए डाल दिए जाते हैं।

लगभग हर इंसान खुद का स्टार्टअप करना चाहता है। लेकिन पैसों की कमी होने के कारण स्टार्टअप का सपना छोड़ देते हैं। भारत में 2021-22 में 14000 स्टार्टअप रिकॉग्नाइज किए गए है। यह US और China के बाद सबसे ज्यादा स्टार्टअप है। भारत में यूएस और चाइना के बाद सबसे ज्यादा स्टार्ट किए जाते हैं।

लोग स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं उनके पास बहुत अच्छे-अच्छे आईडिया भी होते हैं पर अगर पैसों की बात आती है तो वह अपना सपना छोड़ देते हैं। भारत सरकार ने इस समस्या का समाधान करने के लिए Startup India Seed Fund Scheme लांच की है।

अब सपने पूरे करने के लिए पैसों के बारे में सोचने की आवश्यकता नहीं होगी। आपके पास कोई अच्छा आईडिया है और टैलेंट है तो अपना स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं। जानते हैं Startup India Seed Fund Scheme क्या है?

Startup India Seed Fund Scheme क्या है?

Startup India Seed Fund Scheme एक ऐसी योजना है जिसके तहत भारत सरकार उन लोगों को लोन देती है जो खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। उनके पास अच्छा आईडिया तो है, टैलेंट भी है, लेकिन पैसे ना होने के कारण स्टार्टअप नहीं कर पाते।

भारत सरकार उन लोगों को लोन देगी जिनके पास कोई टैलेंट या आईडिया है और अपना स्टार्टअप करना चाहते है। इसके लिए भारत सरकार ने 945 करोड़ का बजट का ऐलान किया है।

कितने पैसे दिए जाएंगे और कैसे दिए जाएंगे?

Startup India Seed Fund Scheme के तहत आपको 2000000 रुपए तो Grant के रूप में दिए जाएंगे और ₹5000000 dept के रूप में दिए जाते हैं। grant and dept देने का क्राइटेरिया क्या है यह जानने के लिए आगे बने रहे।

Startup India Seed Fund Scheme में Grant and Dept देने का क्राइटेरिया क्या है?

  • आपको स्टार्टअप का proof of concept वैलिडेट करना होता है जिसके लिए पैसे दिए जाते हैं।
  • Prototype develop के लिए पैसे दिए जाते हैं। जब भी मार्केट में कोई प्रोडक्ट लॉन्च करते हैं तो सबसे पहले उसकी टेस्टिंग के लिए एक प्रोडक्ट लॉन्च करते हैं जिसकी मदद से यह पता चलता है कि क्या यह प्रोडक्ट आगे लॉन्च करना है या नहीं। उसी प्रोडक्ट को prototype कहते हैं।
  • Product trial के लिए भी पैसे दिए जाते हैं।
  • Marketing के लिए कोई पैसे दिए जाते हैं।
  • commercialization (distribution, sales and customer support) के लिए भी पैसे दिए जाते हैं।
  • Business startup

यह भी पढ़ें Job or Business Me Antar | जॉब और बिज़नेस में अंतर

Startup India Seed Fund Scheme में फंडिंग के लिए एलिजिबिलिटी क्या है?

  • स्टार्टअप DPIT department for promotion of industry and internet trade में recognise होना जरूरी है।
  • जब भी Startup India Seed Fund Scheme में अप्लाई करते हैं उस समय आपकी कंपनी 2 साल से पुरानी नहीं होनी चाहिए।
  • Startup India Seed Fund Scheme मैं जब भी अप्लाई करते हैं उस समय आपने ₹1000000 से ज्यादा की मदद किसी दूसरी स्कीम से नहीं ली होनी चाहिए।
  • आपकी कंपनी के 51 परसेंट शेयर Shareholders of Indian promoters के पास होने चाहिए।
  • बिजनेस आइडिया मार्केट में फिट होना चाहिए।
  • बिजनेस में टेक्नोलॉजी का प्रयोग होना चाहिए।
  • आपका आईडिया किसी से भी रिलेटेड हो सकता है। यदि स्टार्टअप आइडिया इसके रिलेटेड है तो इसमें जल्दी फंड मिल जाता है।
    • DefenceTextileSocial impactWaste managementWater managementEducationFinancial servicesAgricultureFood
    • Health etc

Startup India Seed Fund Scheme में ग्रांट और लोन कितना मिलता है?

  • जब भी आप कोई नया स्टार्टअप करते हैं तो अपना प्रूफ ऑफ कंसेप्ट वैलिडेट करवाने के लिए, प्रोटोटाइप डिवेलप करवाने के लिए और प्रोडक्ट ट्रायल के लिए ₹2000000 का ग्रांट दिया जाता है।
  • उसके बाद मार्केटिंग, commercialization (डिस्ट्रीब्यूशन, सेल्स और कस्टमर सपोर्ट) एंड स्टार्टअप के लिए आपको ₹5000000 का लोन दिया जाता है।

Startup India Seed Fund Scheme में अप्लाई कैसे करें?

Apply करने के लिए कहीं बैंकों के चक्कर नहीं काटने पड़ते। भारत सरकार ने लोन देने के लिए इनक्यूबेटर्स को चुना है। इनक्यूबेटर्स एक ऑर्गेनाइजेशन है जो उन लोगों को स्टार्टअप के लिए पैसे देती है जिन्हें इसकी जरूरत है।

2022 की बात की जाए तो भारत सरकार ने 300 इंक्यूबेटर को चुना है। ज्यादा से ज्यादा 3 इनक्यूबेटर के पास अप्लाई कर सकते हैं। उन तीन इनक्यूबेटर्स में से कोई एक स्टार्टअप के लिए फंड देगा।

  • पहले आपका आईडिया चेक करेगा
  • आईडिया से लोगों की मदद होनी चाहिए।
  • आप में बिजनेस करने का potence होना चाहिए।
  • आपकी टीम तगड़ी होनी चाहिए।
  • आपके अंदर बिजनेस करने की लगन और जुनून होना चाहिए।
  • यदि इनक्यूबेटर को लगेगा कि आप बिजनेस कर सकते हैं तो वह Startup India Seed Fund Scheme के तहत पैसे दे देगा।

Startup India Seed Fund Scheme में अप्लाई करने के लिए इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर जा सकते हैं। ऑफिशल वेबसाइट पर जाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके सीधा Startup India Seed Fund Scheme की ऑफिशल वेबसाइट पर जा सकते हैं। official website

यह भी पढ़ें – SBI Annuity Deposit Scheme in Hindi | एसबीआई एन्युटी डिपोजिट स्कीम इन हिंदी।

यह भी पढ़ें –NDA Ki Salary Kitni Hoti Hai | एनडीए की सैलरी कितनी होती है।

यह भी पढ़ें –Har Ghar Nal Jal Yojana – एक मुहिम, हर घर में पहुंचेगा पानी।

Startup India Seed Fund Scheme क्या है?

Startup India Seed Fund Scheme के तहत उन लोगों की मदद की जाएगी जिनके पास एक अच्छा स्टार्टअप आइडिया तो है और वह पूरी मेहनत और लगन से बिजनेस शुरू भी करना चाहते लेकिन पैसे ना होने की वजह से अपना सपना छोड़ देते हैं। भारत सरकार उन लोगों को अपना बिजनेस स्टार्ट करने के लिए पैसे लोन के रूप में देगी।

Startup India Seed Fund Scheme मैं फंड कौन देता है?

DPIIT department for promotion of industrial internal trade ने Startup India Seed Fund Scheme को regulate करती है। सरकार ने इसके लिए 945 करोड रुपए का बजट बनाया है। जो अलग-अलग इनक्यूबेटर को दिए जाएंगे और इनक्यूबेटर उन लोगों की सहायता करेंगे जिसको इन पैसों की जरूरत है।

Startup India Seed Fund Scheme किसके द्वारा शुरू की गई है?

Startup India Seed Fund Scheme भारत सरकार के द्वारा 16 जनवरी 2016 को उन लोगों के लिए शुरू की गई थी जो अपना बिजनेस तो शुरू करना चाहते हैं उनके पास आइडिया और टैलेंट भी है लेकिन पैसे की कमी होने के कारण वह अपना बिजनेस शुरू नहीं कर पाते।

Startup India Seed Fund Scheme में समय पैसे कैसे मिलते हैं?

भारत सरकार ने पैसे देने के लिए इनक्यूबेटर को चुना है। इनक्यूबेटर एक ऑर्गनाइजेशन है जो आपको आपका बिजनेस आइडिया और टैलेंट देख कर आपको पैसे देती है। 2022 में भारत सरकार ने 300 इंक्यूबेटर को इसके लिए चुना था। आपको पैसे उन इनक्यूबेटर के द्वारा दिए जाएंगे।

प्रोटोटाइप क्या होता है?

जब भी आप मार्केट में कोई प्रोडक्ट लॉन्च करते हैं तो उस प्रोडक्ट की टेस्टिंग के लिए आप शुरुआत में एक प्रोडक्ट बनाते हैं जिससे यह पता चलता है कि इस प्रोडक्ट को लॉन्च करने से पहले इसमें कुछ बदलाव करने हैं या नहीं  उसी प्रोडक्ट को प्रोटोटाइप कहते हैं।

एक विनती?

मैंने इस पोस्ट को लिखने के लिए कड़ी मेहनत की है, आपकी मदद करने के लिए। अगर आप इसे सोशल मीडिया पर शेयर(share) करें और नीचे कमेंट(comment) करें, तो मुझे बहुत मदद मिलेगी। ये है रास्ता.. ♥️

इस तरह आप मदद कर सकते हैं...

Leave a Comment